Xxx flirtdating net Free live sex chat with bombay girls

किसी तरह मैंने इन सब गंदी बातों से ध्यान हटाकर सो गया.लगभग आधी रात में मेरी नींद खुली और मुझे ज़ोर से पेशाब लगी थी.

Free live sex chat with bombay girls-62Free live sex chat with bombay girls-3

चाचा की शादी अभी २ बरस पहले ही हुई थी और शादी के कुछ ही महीने बाद से वो मुंबई में काम करने लगे थे. इधर बीमारी के वजह से वो तीन महीने से गाँव नहीं जा सके थे.गाँव में पहुँचा तो मेरे दादा दादी जो कि चाचा जी के साथ रहते थे, अपने किसी रिश्तेदार से मिलने ४-५ दिन के लिए चले गये और घर में सिर्फ़ मैं और चाची अकेले रह गये.वैसे तो दादाजी और मैं घर के बाहर बरामदे में सोते थे और चाची जी और दादीजी घर के अंदर, पर अब चाची जी ने कहा कि तुम भी अंदर ही सो जाओ.मैं तो दीवार के तरफ था और उतरने के लिए चाची के उपर से लाँघना पड़ता था.लालटेन भी बहुत धीमी जल रही थी और अंधेरे में कुछ साफ दिख नहीं रहा था.सिर्फ़ ब्लाउस के उपर से चुची दबाकर मज़ा नहीं आ रहा था.

मुंबई के बस और ट्रेन में ना जाने कितने ही लड़कियों की चुची दबाई है मैने.मुझे ब्लाउस के उपर से उनकी ब्रा फील हो रही थी पर निपल कुछ मालूम नहीं पड़ रहा था.चाचीजी अब भी बेख़बर सो रही थी और मेरा लंड एकदम फड़फड़ा रहा था.फिर भी मैंने अपना हाथ उपर सरकाया और साथ में मेरी उंगली दोनो जांघों के बीच में घुसाने की कोशिश की.चाची फिर से हिली और नींद में ही उन्होने अपना एक पैर घुटनों से मोड़ लिया जिससे उनकी जांघें फैल गयी. इधर मेरी चाची जी को गाँव से लाने का काम मुझे करना था इसलिए मैं गाँव (उत्तर प्रदेश) चला गया.